Aydin Infotech

Technical Services Hindi me.

Tuesday, 11 February 2020

भारत की जनगणना 2021 || Bharat Ki Janganana 2021

जल्द होने जा रही जनगणना 2021 पूछे जंगे 31 सवाल



भारत सरकार समय-समय पर अपने देश की जनगणना करवाती रहती है ! यह जनगणना आर्थिक या संख्या के आधार पर हो सकती है ! जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं की हाल ही में आर्थिक जनगणना 2020 का कार्यक्रम जारी है ! जिसके तहत पूरे देश में आर्थिक स्थिति के अनुसार जनगणना की जा रही है ! भारत सरकार ने 2011 में जनगणना करवाई थी ! जिसे हम census 2011 नाम देते हैं ! अब भारत सरकार जल्दी 2021 भारत जनगणना (census or janganan 2021) का कार्यक्रम शुरू करने वाली है ! यह जनगणना यह जनगणना पूरी तरह से डिजिटल होगी ! पूरे देश में अगले साल शुरू होने वाली जनगणना में आप घर बैठे अपने मकान और परिवार का बेवरा ऑनलाइन भर सकेंगे ! census or janganan 2021 महानिदेशालय द्वारा तैयार हुए पोर्टल के जरिए की जाएगी !

2021 की जनगणना में आप अपना Detail स्वयं भर सकेंगे ! यदि आप अपना Detail स्वयं नहीं भरना चाहते हैं ! तो आपके पास गणना कार आकर कागज की सीट या स्मार्टफोन पर आपका डाटा भरेगा ! 2021 की जनगणना दो चरणों में की जाएगी !



2021 जनगणना पहला चरण (census or janganana 2021 first stag)


यह चरण 16 मई से लेकर 30 जून 2020 तक चलेगा ! इन 45 दिनों में मकान सूचीकरण एवं मकान गढ़ना और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (इनपीआर) को दर्ज किया जाएगा ! पहले चरण (census or jangadna 2021 ) में मकान सूचीकरण व मकानों की गणना से जुड़े 34 सवाल पूछे जाएंगे !





 जनगणना दूसरा चरण 2021







दूसरे चरण में नागरिकों की गिनती का काम 9 से 28 फरवरी 2021 के बीच प्रस्तावित है ! इसे गणनाकार जो मोबाइल पर आंकड़े दर्ज नहीं कर सकते हैं ! वह कागज पर भी आंकड़े ले सकते हैं ! जबकि दूसरे चरण (census or janganan 2021) में आपके परिवार से जुड़े 28 सवाल पूछे जाएंगे ! 2011 की जनगणना में पहले चरण में 35 और दूसरे चरण में 29 सवाल पूछे गए थे !

जनगणना 2021 के लिए राज्य पत्र जारी देनी होगी 31 जानकारी (census or jangadna 2021, 31 question)


भारत सरकार यह जनगणना बहुत ही हाईटेक तरीके से करवाने जा रही है ! भारत सरकार को 31 सवालों के जवाब देने होंगे ! जनगणना कार्य में लगे कर्मचारी घर में रहने वाले हर व्यक्ति के लिए घर जाएंगे ! 


जनगणना करने वाले व्यक्ति का मानदेय/सैलरी


प्रगढक या सुपरवाइजर को मानदेय/सैलरी दो हिसाब से दी जाएगी ! यदि जनगणना मोबाइल से ऑनलाइन करता है तो उसे 25000 मानदेय मिलेगा ! वही प्रगढक या सुपरवाइजर जनगणना कागज पर करता है !  तो उसे 17500 मानदेय/सैलरी मिलेगा !



चरण                                                        मोबाइल एप्स                         कागज पर
मकान सूचीकरण एवं मकान गणना            7500                                    5500
राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर ( एनपीआर)       6250                                    3750
जनसंख्या की गिनती                                 11,250                                    8250
कुल मानदेय                                            25,000                                    17,500




csc census or jangadna 2021


जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं , इस समय आर्थिक जनगणना चल रही है ! जो कि common service center संचालक द्वारा की जा रही है ! यदि जनगणना कॉमन सर्विस संचालक (csc vle ) के द्वारा सही की जाती है ! तो आने वाली जनगणना भारत सरकार सीएससी (csc )को दे सकती है ! और इसका फायदा सीएससी वेली को मिल सकता है ! अन्यथा यह जनगणना सरकारी कर्मचारियों द्वारा कराई जाएगी ! यह तो आने वाला समय ही बताएगा !

Monday, 10 February 2020

कोरोना वायरस से पॉजिटिव देश कौन से है || Corona Virus Positive cases in World

कोरोना वायरस  कौन कौन से देश में ज्यदा  फ़ैल रहा है 




  • Cruise ship, Diamond Princess: 61
  • Singapore: 30
  • Japan: 25
  • Thailand: 25
  • Hong Kong: 24, including one death
  • South Korea: 24
  • Taiwan: 16
  • Australia: 15
  • Malaysia: 14
  • Vietnam: 12
  • Macau: 10
  • India: 3
  • Philippines: 3, including one death
  • Nepal: 1
  • Sri Lanka: 1
  • Cambodia: 1
  • United States: 12
  • Canada: 5
  • Germany: 13
  • France: 6
  • Britain: 3
  • Italy: 2
  • Russia: 2
  • Finland: 1
  • Spain: 1
  • Sweden: 1
  • Belgium: 1
  • United Arab Emirates: 5


Tuesday, 4 February 2020

One Nation One Ration Card Scheme | एक देश एक राशन कार्ड योजना

एक देश एक राशन कार्ड योजना | One Nation One Ration Card Scheme


One Nation One Card Yojana Policy (In Hindi)| एक देश एक राशन कार्ड योजना की सम्पूर्ण जानकारी


राज्य सरकार अपने नागरिकों के लिए राशन कार्ड को वितरण करती है। राशन कार्ड सिर्फ एक ही राज्य के निवासी उपभोक्ता के लिए तैयार किया जाता है, वह नागरिक दूसरे राज्य में जाकर अपने राशन कार्ड का ईस्तेमाल नही कर सकता मगर अब केंद्र सरकार के खाद्य मंत्री रामविलास पासवान द्वारा  यह निर्धारित किया गया है कि सभी उपभोक्ता एक राशन कार्ड से ही देश भर में राशन का लाभ उठा सकेंगे और दुकानों से अपने – अपने हिस्से का अनाज प्राप्त कर सकेंगे। इस स्कीम को एक देश एक राशन कार्ड के नाम से जाना जा रहा है
One Nation One Ration Card

एक देश एक राशन कार्ड योजना के तहत हर क्षेत्र के निवासी को राशन कार्ड की सुविधा देश में हर किसी राज्य में दे दी जायेगी। वह व्यक्ति कहीं भी रहे अपने राशन कार्ड से इस योजना के तहत अन्न किसी भी पीडीएस की दुकान से अपना एक दिन का अन्न प्राप्त कर सकता है। यह हर एक नगरिक के लिए बहुत बड़ी राहत की बात है।

एक देश एक राशन कार्ड योजना ek Des ek ration card Yojana


  • इस योजना के अंतर्गत प्रवासी मजदूरों को लाभ प्राप्त होगा जो गरीब है और रोजगार की तलाश में एक राज्य से दुसरे राज्य में जाकर अवसर खोजते रहते है।

  • सभी लाभार्थी इस एक देश, एक राशन कार्ड योजना के तहत अपना राशन किसी भी राज्य की पीडीएस राशन केंद्र से लेने में पूर्ण रूप से स्वतंत्र रहेंगे।

  • राशन के किसी भी केंद्र पर जाकर इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है। किसी एक केंद्र से राशन प्राप्त करने की बाध्यता नही होगी। इससे किसी एक ही राशन के विक्रेता पर ही सारा भार नही पड़ेगा।

  • देश के कई राज्यों में पीडीएस प्रणाली के एकीकृत प्रबंधन की शुरुआत बड़ी तेजी से सरकार द्वारा कर दी गयी है जिसके अंतर्गत आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, कर्नाटक, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, केरल, तेलंगाना और साथ ही त्रिपुरा जैसे राज्य सम्मिलित है।

  • इस एक देश, एक राशन कार्ड योजना को केंद्र सरकार समय रहते ही पूरे देश के विभिन्न राज्यो में स्थापित करना चाहती है ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोग इस योजना का लाभ उठा सकें।

  • खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग इस योजना को बढ़ावा देते हुए बड़े स्तर पर काम कर रहे है ताकि अगले माह तक तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के लाभार्थी भी एक देश, एक राशन कार्ड योजना का पीडीएस की दुकानों से तथा कथित लाभ उठा सके।

  • एक देश, एक राशन कार्ड योजना के तहत भ्रष्टाचार के किस्से कम होंगे और हर उपभोक्ता अपने राशन कार्ड की मदद से अन्न को किसी भी पीडीएस की दुकानों से पारदर्शिता व बड़ी ही आसानी से खरीद सकेगा।

खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग एक देश, एक राशन कार्ड योजना के तहत सभी कार्य उद्देश्य पूर्वक संपन्न कर रहे है।



आशा है एक देश एक राशन कार्ड स्कीम की सारी जानकारी इस लेख के माध्यम से आपको मिल पाई है । इस योजना में कुछ बदलाब या नए नियम आने की दशा में इस लेख को अपडेट किया जाएगा ।

Thursday, 26 December 2019

आज लगेग आचार संहिता आज दोपहर 1 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

पंचायतीराज संस्थाओं के आम चुनाव की आज होगी घोषणा, संबंधित क्षेत्रों में प्रभावी होगी आचार संहिता
FirstIndia Correspondent
2019/12/26 11:12
जयपुर: पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव के लिए सरकार के स्तर पर तैयारियां जोरों पर है. ऐसे में आज पंचायतीराज संस्थाओं के आम चुनाव की घोषणा की जाएगी. उसके बाद आज से ही संबंधित क्षेत्रों में आचार संहिता प्रभावी हो जाएगी. महत्वपूर्ण घोषणा के लिए राज्य निर्वाचन आयुक्त पीएस मेहरा आज दोपहर 1 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

राज्य निर्वाचन आयोग की घोषणा के साथ ही लागू हो जाएगी:
राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से चुनाव कार्यक्रम की घोषणा होते ही प्रदेश में आचार संहिता लागू हो जाएगी. दूसरी ओर राज्य निर्वाचन आयोग ने आदर्श आचार संहिता लागू होने से पूर्व आदेश जारी कर चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के लिए चुनाव में अधिकतम खर्च की सीमा तय कर दी है.

अधिकतम खर्च सीमा तय:
राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से जारी आदेश के अनुसार जिला परिषद सदस्य के लिए ड़ेढ लाख रुपए, पंचायत समिति सदस्य के लिए 75 हजार रुपए और सरपंच के लिए 50 हजार रुपए अधिकतम खर्च सीमा तय की गई है.

Sunday, 1 December 2019

जन आधार कार्ड योजना राजस्थान || Jan Aadhaar Card Yojana Rajasthan

जन आधार कार्ड योजना राजस्थान || Jan Aadhaar Card Yojana Rajasthan

राजस्थान जन आधार कार्ड योजना 2019-20 – आवेदन फॉर्म, पंजीयन स्थिति, प्रमाण पत्र, पात्रता, पंजीकरण – Apply Rajasthan Jan Aadhar Card for All Government Schemes 

Jan Aadhar Card


सभी प्रकार की सरकारी योजनाओं एवं सेवाओं का लाभ उठाने के लिए जाने राजस्थान जन आधार योजना के बारे में. फ्लैगशिप भामाशाह कार्ड योजना की जगह इस वर्ष राजस्थान सरकार ने जनाधारा कार्ड योजना शुरू करने का निर्णय ले लिया है. मुख्यतः राजस्थान की पिछली सरकारों ने जो भी निर्णय लेकर छोटी बड़ी योजनाओं का आरंभ किया था , उसमें वर्तमान समय में चल रही मुख्यमंत्री गहलोत की सरकार ने कई नए बदलाव भी किए हैं. भामाशाह कार्ड पर जो भी योजनाएं मेल नहीं खाती थी. उनकी सहूलियत के लिए खासतौर पर ही जनाधार कार्ड योजना को लांच करने की तैयारी शुरू कर दी गई है. जनाधार कार्ड को खासतौर पर 1 वर्ष की वर्षगांठ पर गहलोत जी की सरकार लांच करेगी. इस कार्ड के शुरू हो जाने से सरकार द्वारा चल रही पुरानी योजनाओं पर भी खासतौर से बदलाव होंगे.


भामाशाह कार्ड योजना को राजस्थान की पिछली सरकार भाजपा ने अपनी फ्लैगशिप योजना के अंतर्गत शुरू किया था. वैसे तो भामाशाह कार्ड को वसुंधरा राजे ने अपने कार्यकाल के अंतिम चरण में शुरू करने का विचार किया था. परंतु जैसे ही 2008 में कांग्रेस की सरकार स्थापित हुई , वैसे ही इस योजना के विचार को कहीं पर दफना दिया गया था. जैसे ही 2013 में भाजपा की सरकार बनी, तुरंत वसुंधरा राजे ने इस योजना के शुरू करने के अधूरे काम को पूरा करने का काम शुरू कर दिया.

मुख्यमंत्री जन आधार योजना क्या है ? JAN ADHAAR YOJANA RAJASTHAN

जिस किसी भी प्रकार से भामाशाह कार्ड का लाभ लोगों को मिलना था लगभग, वैसे ही सभी प्रकार की सरकारी सुविधाएं इस कार्ड के अंतर्गत जोड़ी जाएगी. परंतु इसमें थोड़ा अग्रिम एवं उन्नत तकनीक का प्रयोग किया जाएगा. जो भी व्यक्ति योजना के लिए अपात्र होगा, उसे योजना का लाभ प्रदान नहीं किया जाएगा. भामाशाह कार्ड के अंतर्गत कुछ कमियां थी, उन सभी कमियों को इस कार्ड के अंतर्गत सही कर दिया गया है. राजस्थान में लगभग भामाशाह फ्लैगशिप कार्ड योजना के अंतर्गत 1.74 करोड़ लोगों को सरकार की तरफ से लगभग 56 योजनाओं के लाभ को एक कार्ड के जरिए वितरित की जाती थी.

इन सभी योजनाओं को आप इस नए कार्ड पर शिफ्ट कर दिया जाएगा. कांग्रेस सरकार ने सर्कुलर जारी करके यह घोषित कर दिया कि, भामाशाह कार्ड की सभी सुविधाओं से लैस जनाधार योजना को दिसंबर माह में शुरू कर दिया जाएगा. इस नई योजना को शुरू करने में लगभग 17 से 18 करोड़ रुपए का अतिरिक्त खर्च कांग्रेस सरकार को उठाना पड़ सकता है.

मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना की विशेषताएं || Mukhymanthri Jan Aadhaar Card Yojana Rajasthan 


जनाधार कार्ड से संबंधित कुछ प्रमुख विशेषताएं.
. जन आधार कार्ड के डिजाइन एवं रंग रूप में बदलाव किए गए हैं, इसे एक नए रंग एवं डिजाइन में लोगों को वितरित किया जाएगा.
. इसके पहले के कार्ड में जो भी रिकॉर्ड डाले गए थे वह बहुत सीमित थे, परंतु इस नए जनाधार कार्ड में और भी रिकॉर्ड को जोड़ा जाएगा.
. इसके पहले के भामाशाह कार्ड में शिव का प्रयोग किया गया था, परंतु इस आधुनिक तकनीक से लैस जन आधार कार्ड में क्यूआर कोड का इस्तेमाल किया गया है. क्यूआर कोड को स्कैन करते ही कार्ड धारक का सारा बायोडाटा कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखाई देने लगेगा.
. पुराने कार्ड में सिर्फ एक नंबर दिया होता था, जिस पर कार्डधारक के परिवारों का रिकॉर्ड दर्ज रहता था. परंतु इस नए कार्ड के अंतर्गत शामिल परिवारों के परिजनों को अलग-अलग नंबर वितरित किए जाएंगे जो आधार कार्ड से लिंक होगा. ऐसे में हर एक सदस्य का अपना एक अलग रिकॉर्ड उपस्थित रहेगा और अलग डाटा भी तैयार हो सकेगा.
. इसके अतिरिक्त राजस्थान सरकार ने नए राशन कार्ड धारकों को इसी कार्ड को उसी जगह पर प्रयोग करने का विचार विमर्श कर रही है. नया राशन कार्ड बनवाने का झंझट भी खत्म हो सकेगा और सिर्फ एक ही कार्ड से सभी प्रकार के काम हो जाया करेंगे.
मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना के तहत मिलने वाले लाभ एवं सेवाएं ?
JAN AADHAAR CARD YOJANA BENEFIT OR LABH
इस कार्ड के जरिए कार्ड धारकों को सरकार द्वारा प्रदान की जा रही सभी प्रकार की योजनाओं एवं सेवाओं का लाभ सिर्फ एक ही कार्ड के जरिए वितरित किया जाएगा जो निम्नलिखित हैं.
  • नए राशन कार्ड के लिए आवेदन
  • स्वास्थ्य सेवायें जैसे की पीएम जन आरोग्य “आयुष्मान भारत” योजना
  • छात्रवृत्ति योजना
  • देवनारायण छात्रा स्कूटी वितरण योजना
  • मेधावी छात्रा फ्री स्कूटी वितरण योजना
  • बेरोजगारी भत्ता योजना
  • मुख्यमंत्री युवा रोजगार योजना
मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना के तहत पंजीकरण करवाने की सुविधा || JAN AADHAAR CARD YOJANA REGISTRATION

पहले से ही पंजीकृत परिवारों को पुनः पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. पंजीकृत परिवारों को नई योजना के अंतर्गत परिजनों के पंजीकृत फोन नंबरों पर 10 अंक का जनाधार नंबर सेंड कर दिया जाएगा या वॉइस कॉल किया जाएगा. इतना होने के बाद नगर निकाय, पंचायत राज और ईमित्र के माध्यम से इस कार्ड को पंजीकृत परिवारों को निशुल्क वितरित किया जाएगा. एसडी कार्ड को जनाधार की ऑफिशियल वेबसाइट एवं एसएसओ आईडी के माध्यम से पंजीकृत परिवार इसको निशुल्क रूप से डाउनलोड कर सकेंगे. इस योजना के तहत पहले से ही पंजीकृत परिवारों के दर्ज विवरण में संशोधन एवं अपडेशन की सुविधा भी प्रदान की जाएगी. वहीं पर जिस भी सदस्यों का इस योजना के तहत पंजीकरण अभी तक नहीं हुआ है, वह सभी जनाधार पंजीकरण केंद्र पर जाकर अपना पंजीकरण स्वयं करवा पाएंगे.



हमारा उदेश्य

इस वेबसाइट पर जो भी पोस्ट किया जाता है वो इन्टरनेट न्यूज़ पेपर और फील्ड से सर्वे करके आप को यह सभी जानकारी बताई जाती है | आप को हमरे द्वारा सुचना या किसी भी प्रकार की टेक्निकल या नॉन टेक्निकल जानकारी या सहायता चाहिए हो तो आप हमें Contact या Comments कर सकते हो |

"दोस्तों आप अपने बिज़नस और सर्विस के बारे में भी हमारे इस वेब पोर्टल पर शेयर कर सकते हो"